Saturday, 23 February 2019
Vinaora Nivo Slider 3.x

  • Latest News

    • आंगनवाड़ी वर्कर्स व हैल्पर्स दिल्ली चलो 25 फरवरी 2019

      10-02-19

      संसद मार्च फिर से क्यों? अखिल भारतीय आंगनवाड़ी सेविका एवं सहायिका फैडरेशन ( आइफा ) ने 25 फरवरी 2019 को संसद मार्च करने का फैसला लिया है।    दो महीने के भीतर ही संसदीय चुनाव होने वाले हैं। भाजपा के नेतृत्व में वर्तमान एनडीए सरकार ने अपना आखिरी बजट भी पेश कर दिया जोकि पारित भी हो चुका है। अब इस सरकार के सत्ता में रहते हुए कोई भी संसद सत्र नहीं होगा। देश चुनावी माहौल में होगा। तो फिर संसद मार्च की ज़रूरत ही क्या है?   यह संसद मार्च आइफा द्वारा पिछले पांच सालों में भाजपा सरकार की उन नीतियों व कदमों के खिलाफ जारी संघर्षों का समापन है जिन्होंने न केवल हमारी जायज़ मांगों को नज़रअंदाज़ किया है बल्कि स्वयं आईसीडीएस योजना को ही समाप्त करने के कदम उठाए हैं। मजदूर का दर्जा पाने और बच्चों के पोषण, स्वास्थ्य और शिक्षा के अधिकार के लिए हमारा संघर्ष पिछले 28 सालों से जारी है और आगे...

    • Chalo Delhi on 25 February 2019 By Anganwadi Workers and Helpers

      10-02-19

      Why we March to Parliament again?   All India Federation of Anganwadi Workers and Helpers (AIFAWH) has decided to March to parliament on 25 February 2019.  Within two months there will be Parliament elections. Even the last budget of the present BJP led NDA government is placed will be passed. There will not be any more Parliament sessions while this government is in power. The country will be in the election mode. Then why there is yet another march to Parliament now?   This is the culmination of the consistent struggles by AIFAWH in the last five years against the BJP government’s policies and measurers which not only neglected our just demands but also was dismantling the ICDS Scheme itself. It...

    • अंतरिम बजट 2019 - 20 भाजपा सरकार ने फिर से आंगनवाड़ी कर्मचारियों के साथ धोखा किया

      08-02-19

      वेतन में कोई नई बढ़ोतरी नहीं हुई सितम्बर 2018 में बढ़ोतरी की घोषणा की गई लेकिन इसे लागू करने के लिए आवश्यक राशि का आधा भी आवंटन नहीं किया। आंगनवाड़ी वर्कर्स व हैल्पर्स 25 फरवरी 2019 को दिल्ली में विरोध प्रदर्शन करेंगें अंतरिम बजट 2019 - 20 में, भाजपा सरकार ने 26 लाख आंगनवाड़ी कर्मचारियों के साथ फिर से धोखा किया। बजट में न केवल आंगनवाड़ी वर्कर्स व हैल्पर्स की लंबित मांगों को नज़रअंदाज़ किया गया बल्कि देश में कुपोषण के सवाल को भी नजरअंदाज़ किया। 11 सितम्बर 2018 को प्रधानमंत्री ने आंगनवाड़ी वर्कर्स, मिनी आंगनवाड़ी वर्कर्स व हैल्पर्स के वेतन में बढ़ोतरी की घोषणा की थी। उन्होंने यह भी कहा था कि यह बढ़ोतरी 1 अक्टूबर 2018 से लागू होगी और कर्मचारियों को दीपावली से पहले बढ़ा हुआ वेतन मिल जाएगा। लेकिन आज तक अधिकतर राज्यों में अभी तक बढ़ा हुआ...

    < 1 2 3 4 5 6 >